आनंद कौर व्यास को मिलेगा सावित्री चौधरी खूमसिंह साहित्य पुरस्कार

0
724
साहित्य पुरस्कार

उपन्यास ‘मून रा चितराम’ के लिए दिया जाएगा इस वर्ष का यह पुरस्कार

जयपुर। साहित्यिक-सांस्कृतिक क्षेत्र में संलग्न स्थानीय प्रयास संस्थान की ओर से इस वर्ष का सावित्री चौधरी खूमसिंह साहित्य पुरस्कार बीकानेर निवासी राजस्थानी की ख्यातनाम लेखिका आनंद कौर व्यास को दिया जाएगा। प्रयास संस्थान के अध्यक्ष दुलाराम सहारण ने बताया कि व्यास को यह पुरस्कार उनके राजस्थानी उपन्यास ‘मून रा चितराम’ के लिए प्रयास की ओर से आगामी अक्टूबर माह में चूरू जिला मुख्यालय पर आयोजित पुरस्कार-समारोह में प्रदान किया जाएगा। प्रयास संस्थान के सचिव कमल शर्मा ने बताया कि संस्थान द्वारा प्रतिवर्ष इस पुरस्कार के तहत राजस्थानी भाषा की किसी एक लेखिका को ग्यारह हजार रुपये का चैक, शाॅल, श्रीफल और मानपत्र दिया जाता है। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष जोधपुर निवासी लेखिका तारालक्ष्मण गहलोत को यह पुरस्कार दिया गया था।

राजस्थानी में उल्लेखनीय नाम है आनंद कौर व्यास:

साहित्य पुरस्कारवर्ष 2017 के इस पुरस्कार के लिए चयनित आनंदकौर व्यास का नाम राजस्थानी साहित्य में उल्लेखनीय है। जोधपुर के पुष्करणा परिवार में 10 अक्टूबर 1942 को जन्मीं आनंदकौर व्यास ने शादी के बाद राजस्थान विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य में एम.ए. किया तथा अपने लेखकीय कौशल को भी साथ-साथ ऊंचाईयां दी। राजस्थानी में ‘वै सुपना अै चितराम’ कहानी संग्रह तथा ‘मून रा चितराम’ उपन्यास तो हिंदी में ‘कटते कगार’, ‘कल का कोहरा’ जैसे उपन्यास आपके कौशल के नमूने हैं। इनके अलावा आपकी कई जीवनीपरक पुस्तकें भी प्रकाशित हैं। इससे पहले आपको कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। उल्लेखनीय है कि आपके पति बीकानेर निवासी भवानीशंकर व्यास विनोद तथा जोधपुर निवासी पुत्री डाॅ. सुमन बिस्सा भी राजस्थानी साहित्य के सशक्त हस्ताक्षर हैं।

घासीराम वर्मा साहित्य पुरस्कार जोधपुर की पद्मजा शर्मा को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here