रंगारंग प्रस्तुतियों के साथ हुआ राजस्थान दिवस का समापन

0
498
????????????????????????????????????

जयपुर। राजस्थान दिवस का समापन गुरुवार शाम को जनपथ पर रंगारंग प्रस्तुतियों के साथ हुआ। समापन समारोह की मुख्य अतिथि भूटान की राजमाता आशी दोरजी वांग्मो वांगचुक थीं। कार्यक्रम में राज्यपाल कल्याण सिंह एवं मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे भी उपस्थित थीं। समापन समारोह की शुरूआत राष्ट्रगान के साथ हुई।

इसके बाद विविध सांस्कृतिक प्रस्तुतियां, नृत्य एवं वैभवशाली राजस्थान के गौरव को दर्शाने वाला लाइट एण्ड साउण्ड शो आयोजित किया गया। शो के माध्यम से प्रदेश की समृद्ध कला एवं संस्कृति तथा राजस्थान की विकास गाथा को खूबसूरती के साथ प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में राज्य मंत्रिमण्डल के सदस्य, भारत में भूटान के राजदूत वी. नामग्याल, वेदांता रिसोर्सेज के ग्रुप चेयरमैन अनिल अग्रवाल, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एवं गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

तीन दिवसीय राजस्थान दिवस समारोह के दौरान प्रदेश व देश के विभिन्न भागों से आए करीब तीन सौ से ज्यादा लोक कलाकारों ने विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतिया दी।

इस दौरान शिव मुद्रा, चकरी, गैर, ढप-चंग धमाल, पाईका झारखण्ड, मेवासी गुजरात जैसे नृत्यों का कोरियोग्राफ के साथ पेश किया गया। समापन पर सभी समूहों ने होली नृत्य की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर धरती धोरां री… पल पल दिल के पास… वंदेमातरम्… चक दे इण्डिया… जय हो… पल्लो लटके… जैसे फिल्मी और राजस्थानी मधुर धुनें बजाकर लोगों को आनंदित किया। इस बीच रंगारंग आतिशबाजी के नजारे भी देखने को मिले। समारोह के अंतर्गत जवाहर कला केन्द्र में ‘द थिएटर ऑफ ई. अल्काजी’ प्रदर्शनी भी लगाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here