माँ शब्द में समाया विश्व का सार — राज जांगिड़

0
1526
राज जांगिड़

राजस्थानी फिल्मों के सुपर स्टार राज जांगिड़ का किया अभिनंदन

जयपुर। माँ शब्द के अंदर पूरे विश्व का सार समाया हुआ है, इस एक अक्षर से ही अमृत की बरसात होती है। यह बात राजस्थानी फिल्मों के सुपर स्टार राज जांगिड़ ने चूरू में आयोजित एक सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होने कहा कि  आज के बच्चे अंग्रेजी शिक्षा ग्रहण कर  माँ के स्थान पर मम्मी शब्द  बोलने पर जोर देते है जो कि स्वयं मम्मी शब्द के अर्थ से अनभिज्ञ है। बता दे कि राज इन दिनों अपनी राजस्थानी फिल्म मां के प्रमोशन के साथ साथ एक मोटिवेशनल कैम्पेन भी चला रहे है जिसके तहत राज अपनी फिल्म के क्रू मेंबर्स के साथ प्रदेश की विभिन्न स्कूलों में जाकर युवा पीढी को मां के वास्तविक अर्थ से रूबरू करवा रहे है।
राज जांगिड़इसी क्रम में रविवार को चूरू पंहुचने पर राज जांगिड़ और ​गीतकार रफीक राजस्थानी का शानदार अभिनन्दन किया गया। जीएसएम एंटरटेनमेंट और एसवीएम मीडिया लैब्स के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस सम्मान समारोह में शॉल, साफा और श्रीफल के साथ राज और उनकी टीम का अभिनंदन किया गया। उपस्थितजनों ने राज जांगिड़ को फिल्म माँ की सफलता के लिए बधाई दी। इस अवसर पर जीएसएम एंटरटेनमेंट के गोविन्द लुगरिया, एसवीएम मीडिया लैब्स के अमित कुमार, कलाकार असलम खान, कथाकार शिवनंदन, उमेश शर्मा, प्रमोद सैनी, कुलदीप तेतरवाल, नरेन्द्र सहित बडी संख्या में सिनेप्रेमी मौजूद थे।
राज जांगिड़आपको बता दे कि हाल ही में राज जांगिड़ अभिनीत राजस्थानी फिल्म  माँ रिलीज हुई है जिसने घरेलू बॉक्स आॅफिस पर शानदार प्रदर्शन किया है। जयपुर स्थित एशिया के सबसे लोकप्रिय सिनेमाघर ‘राज मंदिर’ में भी फिल्म ने लगातार तीन हफ्ते तक हाउसफुल शो दिए है। इसके अलावा राजस्थान की विभिन्न 9 लोकेशन्स पर भी फिल्म ने शानदार प्रदर्शन किया है। जयपुर, कुचामन, नागौर, नोखा, शाहपुरा,झुंझूनूं आदि स्थानों पर शानदार प्रदर्शन के बाद अब आगामी 22 सितंबर से राज जांगिड़ की फिल्म  माँ का लुत्फ सुजानगढ़ के दर्शक भी उठा सकेगें। जी हां, इसी 22 तारीख से फिल्म सुजानगढ के ड्रीम लाइट सिनेमा में रोजाना चार शो में प्रदर्शित की जाएगी। बता दे कि श्री विश्वकर्मा एन्टरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फिल्म ‘मां’ एक मां और बेटे के रिश्ते की इमोशनल कहानी है। इस सम्पूर्ण पारिवारिक फिल्म के माध्यम से एक मां की महानता को दर्शाने का प्रयास किया गया है। एक मां बच्चों के रूखे बर्ताव के बावजूद भी सदैव उनकी भलाई के लिए ही सोचती है! गोपालकृष्ण योगेश के निर्देशन में बनी इस फिल्म की कहानी निरंजन भुढाढरा ने लिखी है जबकी सिनेमेटोग्राफी बलजीत गोस्वामी ने की है। राजस्थानी के जाने माने गीतकार रफीक राजस्थानी ने जंहा फिल्म के गीत लिखे है वहीं इन गीतों को अपने मधुर संगीत से सजाया है आसिफ चांदवानी ने। निर्मााता नेमीचन्द शर्मा, सुमेरमल सुथार और सह निर्माता ओमप्रकाश सुथार के मार्गदर्शन में बनी यह फिल्म मोहिनीदेवी मेमोरियल ट्रस्ट, पदमामाता ग्रुप, पदम ग्रुप आॅफ कम्पनी, शंकर कुलरिया व नरसी कुलरिया की प्रस्तुति है। फिल्म में राज जांगिड़ के साथ एक्ट्रेस भानी सिंह, मंजूला, युधिष्ठिर सिंह भाटी, क्षितिज कुमार, दीपेन्द्र सिंह, पन्या सेपट, नन्दकिशोर, सपना गाडरी, अनिरूद्ध, नोरत सोलंकी,अनिल दाधीच, दिनेश सारंग, उषा नागर, सोनू जांगिड़, हरीश चौधरी और राजेश कुमार भी मुख्य किरदार निभा रहे है।

बॉक्स आॅफिस पर धूम मचा रही है राज जांगिड की फिल्म मां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here