घूमर की प्रस्तुति और सावन मनभावन

0
1432
अनिता प्रधान

अनिता प्रधान एंड ग्रुप और रंगशीर्ष संस्था के तत्वावधान में आयोजित रंगारंग कार्यक्रम में कलाकारों ने दी एक से बढकर एक प्रस्तुतियां

अनिता प्रधानजयपुर। सावन की फुहारों के बीच रविवार को रवीन्द्र मंच की शाम और भी सुहानी हो गई जब सावन के रसभरें गीतों पर राजस्थानी लोकनृत्य की एक से बढकर एक प्रस्तुतियों ने दर्शको को झूमने पर मजबूर कर दिया। जी हां, मौका था अनिता प्रधान एंड ग्रुप और रंगशीर्ष संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित रंगारंग खास कार्यक्रम ‘घूमर : लोक नृत्य संध्या’ का।
रवीन्द्र मंच प्रांगण में शाम 7 बजे राजस्थानी लोकनृत्यों से भरी इस शाम का आगाज मुख्य अतिथि सुश्री मधु भट्ट तेलंग ने दीप प्रज्वलन के साथ किया। गणेश वंदना के बाद फेमस डांस डायरेक्टर अनिता प्रधान के निर्देशन में लोक कलाकारों ने ‘आयी सावणिये री तीज’ ‘भाभी मेळों देखन चालां’ सहित सावन के अनिता प्रधानविभिन्न रसभरे गीतों पर मनभावन प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम के दौरान घूमर के अलावा गोरबंद, टूटे बाजूबंद री लूम, सावन नृत्य, तम्बाकूडी, भवाई नृत्य और कालबेलिया नृत्य की प्रस्तुतिया दी गई। कार्यक्रम का खास आकर्षण अनिता प्रधान एंड ग्रुप की कलाकारों द्वारा दी गई घूमर की प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया।
आपको बता दे कि राजस्थान का प्रसिद्ध लोक नृत्य ‘घूमर’ वैसे तो दुनियां के टॉप 10 नृत्यों में शुमार है लेकिन यह आज भी अपने अस्तित्व को बचाने के लिए जूझ रहा है। यही सोचकर अनिता प्रधान‘घूमर’ के अस्तित्व की लडाई में फेमस डांस डायरेक्टर अनिता प्रधान भी शामिल हो गई। जिसके चलते पिछले करीब एक माह से अनिता प्रधान के मार्गदर्शन में ‘घूमर’ सहित राजस्थान के विभिन्न लोकनृत्यों की एक वर्कशॉप आयोजित की गई थी। जिसके दौरान शहर के अनेक कलाकारों को राजस्थानी नृत्यों की विभिन्न शैलियों का प्रशिक्षण दिया गया है।
राजस्थान सरकार के कला एवं संस्कृति विभाग के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में दयाशंकर, प्रियंका जैन, कनिका अग्रवाल, आयुषी शेखावत, खुशबु साहू, रिंकी ठाकुर, शैफाली और रेखा आदि कलाकरों ने नृत्य प्रस्तुतियां दी। रंगशीर्ष संस्था के सचिव दिनेश प्रधान ने सभी का आभार व्यक्त किया।

 यंहा देखिए कार्यक्रम की झलक।

गीतों के साथ देगें ‘शहंशाह-ए-तरन्नुम’ को श्रद्धांजली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here