रवीन्द्र नाथ टैगोर की 156वीं जन्यती समारोह का शुभारंभ

0
559
रवीन्द्र

दो दिवसीय समारोह के प्रथम दिन कहानी, कविता पाठ और मूकाभिनय के माध्यम से गुरूदेव को याद किया

जयपुर। गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की 156 वीं जयन्ती समारोह का शुभरंभ सोमवार को धूमधाम से हुआ। कार्यक्रम के दौरान रंगकर्मियों ने गुरूदेव के चित्र पर पुष्प अर्पित कर आदरांजलि दी। दो दिवसीय समारोह के प्रथम दिन गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की विश्व प्रसिद्ध कविताओं और कहानियों का पाठ किया साथ ही पप्पू पास्ड… मूक अभिनय की प्रस्तुति भी दी गई।

अमित शर्मा के निर्देशन में आयोजित रवीन्द्र काव्यांजलि में युवा सृजनकर्मी शक्तिपुंज के दीपकनामा, अश्मित, आशीष जादम, संजय महावर, राहुल शर्मा, प्रतिभा पारीक, रजत शर्मा, कुलदीप सिंह, मनीष बैरवा और आधार कोठारी ने गुरूदेव की विश्व प्रसिद्ध कविताओं का पाठ किया। जिनमें कृष्ण कली, देवालय, दो पंछी, प्रहार करो, त्राण आदि प्रमुख थी। कविता पाठ के बाद डॉ. नरेन्द्र शर्मा, कुसुम और गीतकार कृष्ण कल्पित ने कविताओं का विश्लेषण किया। डॉ. विनीता नायर ने गुरूदेव की लम्बी नाट्य कविता कच देवयानी का वाचन किया। कविता पाठ के बाद अशोक राही ​के निर्देशन में सृजनकर्मियों ने गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगौर की विभिन्न कहानियों का वाचन किया जिसमें ‘तोता’ और ‘पत्नि का पत्र’ प्रमुख थी। पीपुल्स मीडिया थियेटर के नितिन सैनी ने तोता कहानी तथा अपेक्षा जैन और रूचि गोयल ने स्त्री विमर्श की अद्भुत कथा ‘पत्नि का पत्र’ का वाचन किया। उपन्यासकार प्रबोध कुमार गोविल, राजस्थानी हिन्दी ग्रंथ अकादमी की निदेशक डा. अनिता नायर और वरिष्ठ पत्रकार पुरूषोत्तम सैनी ने कहानियों पर टिप्पणी की। संचालन डॉ. रूपा मंगलानी ने किया।

कार्यक्रम के अंत में जाने माने थियेटर डायरेक्टर सिराज अहमद भाटी के निर्देशन में ‘एण्ड पप्पू पास्ड…’ मूकाभिनय प्रस्तुत किया गया । बता दे कि यह मूकाभिनय र​वीन्द्र नाथ टैगोर द्वारा लिखित ‘छुट्टी’ नामक कहानी का रूपान्तरण है। मॉं के मातृत्व और बच्चों की शरारत से सराबोर यह मूकाभिनय घर—घर में घटित होने वाली कहानी को दर्शाता है। सिराज अहमद भाटी के निर्देशन में प्रीति दुबे, अंशुल अवस्थि, माइम आर्य, आयुषि दिक्षित, अभिषेक मुद्गल, रेणु सनाढ्य, देव गुर्जर, विपिन इंसा ने मूकाभिनय में मुख्य भूमिका निभाई जबकि संगीत समर वीर सिंह ने दिया। इस अवसर पर बडी संख्या में रंगकर्मी और दर्शक उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here