राघव जुयाल और दीपक हुड्डा करेंगे लाइव संवाद

0
1249

राघव जुयाल कोरियोग्राफी और अभिनय के सरताज तो दीपक हुड्डा अपने देश के कब्बड्डी चैम्पियन

चूरू। चूरू पुलिस, फिल्मस्थान और संप्रीति संस्थान की ओर से आयोजित ऑनलाइन लाइव संवाद सेशन में शनिवार को डांसर, एक्टर, कोरियोग्राफर और टीवी प्रस्तोता स्लोमोशन किंग व क्रोकरोज स्टाइल का इजाद करने वाले राघव जुयाल तथा राष्ट्रीय कबड्डी टीम और जयपुर पिंक पैंथर के कप्तान जुझारू खिलाड़ी दीपक हुड्डा चूरू की जनता से जुड़ेंगे।पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम की पहल पर हो रहे इस ऑनलाइन संवाद में, राघव और दीपक से बात करके जनता को समझ में आएगा सफलता और शोहरत पाने के लिए किस अग्निपथ से राघव जुयाल और दीपक राम निवास हुड्डा गुजरे हैं।राघव और दीपक आज किसी भी परिचय के मोहताज नहीं है। दोनों ही युवा अन्य भारतीय युवाओं की तरह हैं। राघव उत्तराखंड के देहरादून में जन्मे तो दीपक हरियाणा में लेकिन आज भारत के लाखों युवाओं से अलग प्रसिद्धि और सफलता के शिखर पर यह दोनों बैठे हैं। राघव और दीपक के संघर्षों की दास्तां, असफलता, कठिन परिस्थितियों में भी अपने पथ पर अडिग रहने के कारण आज राघव और दीपक युवाओं के रोल मॉडल बने हुए हैं। शनिवार को राघव जुयाल शाम पांच बजे और और दीपक हुड्डा शाम छह बजे चूरू पुलिस फेसबुक पेज पर लाइव रहेंगे। जनता राघव और दीपक से पूछे जाने वाले सवाल शनिवार दस बजे तक चूरू पुलिस के फेसबुक पेज, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप्प नंबर 8769629944 पर रजिस्टर करवा सकती है। जनता ऑनलाइन सेशन के दौरान भी राघव और दीपक से सवाल पूछ सकती है।

सेल्फ लर्निंग का अनूठा उदाहरण राघव जुयाल

देहरादून में जन्मे, दून इंटरनेशनल स्कूल में पढ़े राघव जुयाल आज डांसर कोरियोग्राफर टीवी एंकर और अभिनेता के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने डांस में अपने नए स्टाइल स्लो मोशन और क्रोकरोज स्टाइल बनाया, उन्हें स्लो मोशन किंग के नाम से जाना जाता है। सूत्र कहते हैं कि राघव ने डांस की और अभिनय की फॉर्मल ट्रेनिंग कभी नहीं ली। उन्होंने इंटरनेट और टीवी पर देख देख कर यह सब सीखा। राघव की इस बात से ही उनके जुझारू व्यक्तित्व का पता चलता है। राघव डांस इंडिया डांस में के तीसरे सीजन में टॉप ,18 में जगह नहीं बना सके थे। जनता की डिमांड पर वाइल्ड कार्ड के जरिए उनकी एंट्री हुई। राघव उसके बाद उस सीजन में सेकंड रनर अप रहे। 2014 में उन्होंने फिल्म सोनाली केबल के जरिए फिल्मों में कदम रखा। राघव एबीसीडी 2 में दिखे। डांस रियलिटी शो डांस प्लस उन्होंने होस्ट किया। 2016 में खतरों के खिलाड़ी में प्रतिभागी के रूप में दिखे तो राइजिंग स्टार कार्यक्रम को उन्होंने होस्ट किया। 2019 में राघव फिल्म नवाबजादे में दिखे तो 2020 में राघव स्ट्रीट डांसर 3 डी में दिखे।

स्कूल की नौकरी से भारतीय कब्बड्डी टीम के कप्तान तक का सफर 

हरियाणा के रोहतक में जन्मे दीपक हुड्डा की माता का निधन जब वह 4 साल के थे तभी हो गया था। 12वीं में आते आते उनके पिता भी दुनिया से चल बसे रोजी रोटी का संकट दीपक के सामने था। ऐसे में दीपक ने हार नहीं मानी और वह स्कूल में नौकरी करने लगे। 2 साल तक यह खिलाड़ी, खेल और जीवन के संघर्षों के बीच पिसता रहा। दीपक ने हार नहीं मानी और वे स्कूल की नौकरी के बाद गांव में कब्बड्डी के अभ्यास के लिए जाते रहे, धीरे-धीरे मेहनत रंग लाई और दीपक हरियाणा की कब्बड्डी टीम में चुन लिए गए उसके बाद वे भारत की नेशनल कब्बड्डी टीम में चुने गए, उस टीम ने 2016 में साउथ एशियन गेम्स में देश के लिए स्वर्ण पदक जीता। उसके बाद दीपक भारतीय कब्बड्डी टीम के कप्तान भी बने और प्रो कब्बड्डी लीग शुरू होने के बाद वह आज जयपुर पिंक पैंथर्स के कप्तान हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here