उर्दू के आंगन में गैर मातृभाषा वाले उर्दू सहित्यकार सम्मानित

0
1119

उर्दू डे.राजस्थान उर्दू अकादमी ने मनाया शायर अल्लामा इकबाल का जन्म दिवस

जयपुर। उर्दू के जाने.माने शायर अल्लामा इकबाल के जन्मदिवस को राजस्थान उर्दू अकादमी ने गुरुवार को उर्दू डे के रूप में मनाया। इस अवसर पर टोंक रोड़ स्थित होटल इंडियाना प्राइड में अकादमी द्वारा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उर्दू डे पर आयोजित इस सम्मान समारोह में ऐसे उर्दू.हिन्दी साहित्यकार व उर्दू.प्रेमी नवाजे गएए जिनकी मातृभाषा उर्दू नहीं है। सम्मानित होने वालों में बीकानेर की सहित्यकार सीमा भाटीए जयपुर के  प्रेम पहाड़पुरी व मनोज मित्तल थे। इन तीनों को पुष्प गुच्छए प्रतिक चिन्हए सम्मान पत्र एवं शॉल ओढाकर कर नवाजा गया। अकादमी के सचिव मोअज्जम अली ने बताया कि सम्मान समारोह की सदारत एसण्एसण् बिस्सा रिटाण् आईएएस ;परियोजना सलाहकारए एचसीएमए राजण् राज्य लोक प्रशासन संस्थानद्ध तथा मुख्य अतिथि जस्टिस बनवारी लाल शमाज़्ए राजस्थान उच्च न्यायालय जयुपर थे। कार्यक्रम में अतिविशिष्ट अतिथि सरदार जसबीरसिंह अध्यक्षए अल्प संख्यक आयोग राजस्थान व केंद्रीय हज कमेटी की सदस्य फिरोजा बानो विशिष्ट अतिथि थे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में अकादमी चेयरमैन अशरफ अली खिलजी व समारोह कमेटी के चेयरमैन लालमोहम्मद मुवालजन ने सभी अतिथियों का गुलदस्तों से स्वागत किया। इस अवसर पर चेयरमैन खिलजी ने उर्दू अकादमी के क्रियाकलापों पर रोशनी डाली और कहा कि उर्दू के अन्य साहित्यकारों के जन्मदिन पर भी ऐसे कार्यक्रम अकादमी द्वारा समय.समय पर आयोजित किये जायेगें।

कमेटी के चेयरमैन लालमोहम्मद जन ने इस मौके पर बताया कि अकादमी द्वारा अब तक अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जा चुके है जिसमें मुशायराए सेमीनार मुख्य तौर से शामिल है। उन्होने कहा कि उर्दू भाषा को बढावा देने के लिए अकादमी चेयरमैन अशरफ अली खिलजी के प्रयासों से प्रदेश में अनेक स्थानों पर उर्दू कोचिंग संस्थान खोले जा रहे है। समारोह को संबोधित करते हुए जस्टिस बनवारी लाल शर्मा ने कहा कि उर्दू एक मीठी भाषा है इसका अधिकाधिक प्रयोग सभी को करना चाहिये। उन्होने उर्दू के विकास एवं प्रचार.प्रसार के लिए सरकार से उर्दू अकादमी का बजट बढाने की सिफारिस भी की। सरदार जसबीरसिंह चेयरमैनए अल्प संख्यक आयोग राजस्थान व एसण्एसण् बिस्सा रिटायर्ड आईएएस सहित केंद्रीय हज कमेटी की सदस्य फिरोजा बानो ने भी संबोधित किया। अतिथियों ने कहा कि सभी मजहबों के लोगों ने उर्दू से मोहब्बत कर एकता की जुबान बना दी। उर्दू बहुत मीठी जुबान हैए इसलिए इसे पढऩे में आनन्द व अलग ही मजा आता है। इस अवसर पर अतिथियों व अन्य मेहमानों ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए ऐसे समारोह नियमित कराने पर जोर दिया। अकादमी सचिव मोअज्जम अली ने सभी अतिथियों का परिचय दिया। कार्यक्रम के अंत में राजस्थान उर्दू अकादमी की राज्य सदस्या आसिफा अली ने सरकार से अकादमी का बजट बढाने की मांग करते हुए समारोह के सफल आयोजन पर सभी का शुक्रिया अदा किया। अकादमी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में पत्रकार महेन्द्र वर्माए अल्प संख्यक आयोग के सदस्य मुनवर खानए भाजपा अल्प संख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री जंग बहादूर पठानए राजस्थान उर्दू अकादमी के सदस्य स्लीम कोहीनूर सहित सैंकड़ों लोगों ने शिरकत की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here