लेखकों और साहित्यकारों की प्रोत्साहन राशि बढ़ी ।

0
475

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि साहित्य व संस्कृति किसी भी समाज का आईना होती है। वेद व उपनिषदों की हरियाणा की धरा की सभी साहित्य अकादमियों को डिजिटलाईज किया जाएगा ताकि कोई भी व्यक्ति वैबसाईट के माध्यम से इनकी जानकारी ले सके। मुख्यमंत्री ने हरियाणा साहित्य अकादमियों द्वारा प्रतिवर्ष साहित्यकारों और लेखकों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि पांच लाख रुपए से सात लाख व अढ़ाई लाख रुपए से बढ़ा कर पांच लाख रुपये करने की घोषणा भी की।
हरियाणा ग्रंथ अकादमी की ओर से लेखकों को हर वर्ष एक-एक लाख रुपए के 10 प्रोत्साहन पुरस्कार आरंभ करने की भी घोषणा की, जो पंडित दीन दयाल उपाध्याय, स्वामी विवेकानंद व पूर्व उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय मंगल सेन के नाम पर होंगे।
मुख्यमंत्री, जो हरियाणा साहित्य अकादमियों के अध्यक्ष भी हैं, आज पंचकूला के सैक्टर-5 स्थित इन्द्रधनुष ऑडिटोरियम में हरियाणा स्वर्ण जयंती वर्ष कार्यक्रमों की श्रृंखला में हरियाणा सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय हरियाणा साहित्य संगम कार्यक्रम का शुभारंभ करने उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।
दो हजार से अधिक पंजीकृत साहित्यकारों व रचनाकारों से खचाखच भरे सभागार से गदगद मुख्यमंत्री ने कहा कि लेखक अपनी लेखनी के माध्यम से समाज निर्माण में अपना अमूल्य योगदान देता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लगभग तीन वर्ष पहले देश व समाज के लिए समर्पित भाव से कार्य करने का जो संकल्प लिया है, उससे पूरा देश प्रभावित हुआ है और राजनीति में एक नए युग की शुरूआत हुई है जबकि पहले के नेता मैं और मेरा परिवार पहले समाज जाए भाड़ में की भावना के साथ राजनीति करते थे। उन्होंने कहा कि सरकार सडक़, अस्पताल, स्कूल व अन्य आधारभूत संरचना के निर्माण कार्य करवाती है, परंतु साहित्यकार सही मायनों में समाज निर्माण का कार्य करता है जो एक सराहनीय कार्य है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा गठन के स्वर्ण जयंती वर्ष के कार्यक्रमों को उन्होंने प्रदेश की अढ़ाई करोड़ जनता को समर्पित किया है और वे चाहते हैं कि हर कोई इसमें अपनी भागीदारी दे, चाहे वह गांव का हो, शहर का हो या अन्य किसी शहर का। भले ही वह एक श्रोता के रूप में स्वर्ण जयंती कार्यक्रम से जुड़े। उन्होंने कहा कि हरियाणा का साहित्यिक दृष्टि से भूतकाल उत्तम रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here